Uncategorized राज्य

अधिकारी कार्य टालने वाली प्रवृत्ति से बचेंगे तो विभागीय कार्य करने में आसानी होगी- कलेक्टर

विभाग की शिकायत न होने पर संबंधित विभाग को तत्काल फारवर्ड करें, सीएम हेल्पलाईन की समीक्षा की बैठक में कलेक्टर ने दिए निर्देश

आगर-मालवा । कलेक्टर श्री अवधेश शर्मा ने आज शुक्रवार को कलेक्टर सभाकक्ष में सीएम हेल्पलाईन की विभागवार समीक्षा कर निर्देश दिए कि कार्यालय प्रमुख अपनी विभागीय शिकायतों को संतुष्टीपूर्वक निराकरण करें। शिकायतकर्ता से दूरभाष पर चर्चा कर, उनकी समस्याओं का समाधान करते हुए, पोर्टल से शिकायत बंद करवाएं। कलेक्टर ने निर्देश दिए कि अधिकारी सीएम हेल्पलाईन की प्रतिदिन मॉनिटरिंग करें, जैसे ही शिकायत दर्ज होती है, उसका निराकरण करें। शिकायत के निराकरण की कार्यवाही कल पर न टालें, अधिकारी टालने वाली प्रवृत्ति से बचेंगे तो विभागीय कार्य करने में आसानी होगी तथा शिकायते भी पेंडिंग न रहगी। शिकायतों का एल-01 पर ही निराकरण करना सुनिश्चित करें, जिससे कि अगले स्तर पर लंबित न हो। सीएम हेल्पलाईन की शिकायतों के निराकरण में अधिकारी कोताही न बरतें, बिना कार्यवाही के शिकायत अगले स्तर पर लंबित होती है, तो संबंधित के विरूद्ध कड़ी कार्यवाही प्रस्तावित की जाएगी। उन्होंने यह भी निर्देश दिए कि त्रुटिवश किसी अन्य विभाग की शिकायत किसी अन्य विभाग में दर्ज हो जाए, तो उसे तत्काल संबंधित विभाग को फारवर्ड कर दें, जिससे कि संबंधित विभाग द्वारा उसका निराकरण किया जाए।
कलेक्टर ने निर्देश दिए कि शिकायतों की जानकारी ग्राम पंचायत सचिवों को उपलब्ध करवाई जाए, जिससे सोमवार एवं गुरूवार को सुशासन टीम के सदस्य गांवों में भ्रमण करने पहुंचे तो संबंधित शिकायतकर्ता से सम्पर्क कर, विभागों से समन्वय कर निराकरण किया जा सकें। 100 से अधिक दिवस की लंबित शिकायतों का सर्वोच्च प्राथमिकता देकर, उनका निराकरण करना सुनिश्चित करें। उन्होंने खाद्य आपूर्ति, शिक्षा, स्वास्थ्य विभाग आदि विभागों की शिकायतों लंबित होने पर नाराजगी जाहिर करते हुए अधिकारियों को गुणवत्तापूर्ण निराकरण करने के निर्देश दिए।उन्होंने एल-3 एवं एल-4 पर लम्बित शिकायतों का निपटारा कर, वरिष्ठ कार्यालयों में सम्पर्क कर शिकायत पोर्टल से विलोपित करवाने के निर्देश दिए। उन्होंने सख्त निर्देश दिए कि अधिकारी आगामी बैठक से पूर्व अधिक से अधिक शिकायतों निराकरण कर प्रतिवेदन प्रस्तुत करें, जिन विभाग प्रमुख द्वारा निराकरण में गति नहीं लाई जाएगी, उनकी वेतनवृद्धि रोकी जाएगी।
संबल योजना की लम्बित शिकायतों का निराकरण करें
कलेक्टर ने संबल योजनान्तर्गत प्रसूति सहायता सहित अन्य लम्बित शिकायतों का निराकरण करने हेतु सभी नगरीय निकाय सीएमओं एवं जनपद सीईओं का निर्देशित किया। उन्होंने निर्देश दिए कि बजट के अभाव में जो शिकायते लम्बित है, उनमें डीओ लेटर लिखवाकर भेजने की कार्यवाही की जाए। लोक सेवा गारंटी अधिनियम के तहत् लम्बित सभी शिकायतों का निराकरण किया जाए।
सभी पात्र हितग्राहियों के आयुष्मान कार्ड बनाए
कलेक्टर ने कहा कि आयुष्मान योजनान्तर्गत सभी पात्र हितग्राहियों के पंजीयन कर कार्ड बनाए जाएं। कोई भी हितग्राही कार्ड बनाने से वंचित न रहे। उन्होंने जनपद सीईओ को सीएससी संचालकों की बैठक लेकर आयुष्मान कार्ड बनवाने हेतु निर्देश जारी करने हेतु निर्देशित किया। उन्होने निर्देश दिए कि ग्राम पंचायत सचिव, रोजगार सहायक मुख्यालय पर रहकर सीएससी के माध्यम से पात्र हितग्राहियों के शत-प्रतिशत कार्ड बनवाना सुनिश्चित करें।
उचित मूल्य दुकानों पर सतत् निगरानी रखें
कलेक्टर ने संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए कि गांवों एवं शहरों की उचित मूल्य दुकानों पर सतत् निगरानी रखी जाए। किसी भी तरह की लापरवाही दुकानों पर न हो, इस पर विशेष ध्यान रखें। सभी खाद्यान्न पर्चीधारी परिवारों को प्रतिमाह राशन प्राप्त हो, उसका व्यवस्थित रिकार्ड भी संधारित रखा जाए। जो परिवार राशन प्राप्त नहीं कर रहें, उनकी जानकारी संबंधित अधिकारी द्वारा प्राप्त की जाए।
समर्थन मूल्य पर उपार्जन हेतु किसानों का पंजीयन किया जाए
कलेक्टर ने निर्देश दिए कि रबी उपार्जन वर्ष-2020-21 हेतु जिले के सभी किसानों का पंजीयन किया जाए। पंजीयन केन्द्रों पर पंजीयन के लिए आने वाले कृषकों के बैठक, पेयजल आदि की व्यवस्था की जाए। साथ ही गिरदावरी का कार्य पटवारी एवं राजस्व निरीक्षक गुणवत्तापूर्वक पूर्ण करें। उन्होंने उपार्जन से जुड़े अधिकारियों को भी उपार्जन संबंधी सभी तैयारियां पूर्ण करने के निर्देश दिए है।
जिन विभागों को जमीन का आवंटन होना है, वे जानकारी दें
कलेक्टर ने कहा कि जिले के किन-किन विभागों को कार्यालय, अपने अधीनस्थ संस्थाओं आदि के लिए भूमि का आवंटन होना है, वे शीघ्र जानकारी उपलब्ध करवाएं, ताकि शासकीय भूमि का आवंटन उन्हें किया जा सके। उन्होंने आंगनवाड़ी भवनों एवं अन्य भवनों के निर्माणाधीन कार्यो का गुणवत्तापूर्ण शीघ्र पूर्ण करवाने के निर्देश दिए। साथ गौ-अभ्यारण्य सालरिया की बाउन्ड्रीवाल बनाने हेतु प्राक्कंलन तैयार कर शासन स्तर पर भेजने के निर्देश संबंधित विभाग को दिए।
कलेक्टर ने विभागों में लम्बित वेतन निर्धारण एवं पेंशन के लम्बित प्रकरणों का निराकरण नहीं करने वाले आहरण एवं संवितरण अधिकारियों को वेतन आहरण न करने के निर्देश जिला कोषालय अधिकारी को दिए।
इनकम टैक्स कटोत्रा करें
जिला कोषालय अधिकारी ने बताया कि वित्तीय वर्ष समाप्त होने वाला है, सभी आहरण एवं संवितरण अधिकारी अपने अधीनस्थों का इनकम टैक्स कटोत्रा करना सुनिश्चित करें। साथ ही सामग्री खरीदी के ढाई लाख से अधिक के देयकों में जीएसटी कटौत्रा भी करें। जिन विभाग अन्तर्गत निर्माण कार्य चल रहे उनकी प्रत्येक माह की डिजिटल हस्ताक्षर प्रक्रियानुसार जानकारी अवश्य देवें। इस संबंध में कोई समस्याएं आने पर जिला कोषालय में सम्पर्क कर निराकरण करवाएं।
बैठक में सीईओ जिला पंचायत श्री डीएस रणदा, संयुक्त कलेक्टर अशफाक अली सहित सभी विभागों के जिला अधिकारी, नगरीय निकाय सीएमओ, जनपद सीईओ एवं तहसीलदार उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *