Uncategorized खेतिहर राज्य

चना फसल से तेवड़े की निंदाई करने लगे हैं किसान

रायसेन | सरकार द्वारा तेवड़ा मिले चने की खरीदी नहीं करने की जानकारी मिलने पर जिले के किसान चने की फसल से तेवड़ा की निंदाई करने लगे हैं। खेत से तेवड़ा की निंदाई कर रहे किसान किसान श्री पर्वत सिंह, मुन्नालाल तथा कमलेश सिंह ने बताया कि कटाई के बाद चने से तेवड़ा के बीज अलग नहीं होते, जिससे हमें चने की फसल बेचने में परेशानी होगी। इस परेशानी से बचने के लिए हम अभी से चने की फसल की निंदाई कर तेवड़ा को खेत से बाहर कर रहे हैं।
भारत सरकार द्वारा तेवड़ा मिक्स चना नहीं लिया जाएगा। कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव के निर्देशानुसार इस संबंध में किसानों को जानकारी देने के साथ ही उन्हें तेवड़ा की निंदाई करने हेतु जागरूक भी किया जा रहा है। कृषि विभाग के अधिकारियों और मैदानी अमले द्वारा क्षेत्र का भ्रमण कर किसानों को सलाह दी जा रही है कि अभी खेतों में चने की फसल में तेवड़ा आने पर उसकी निंदाई कर तेवड़ा को सरलता से चने से अलग किया जा सकता है। तेवड़ा के पौधे चने के पौधे से अलग नहीं करने पर बाद में तेवड़ा एवं चने के बीजों का आकार लगभग एक सामान हो जाता है और इन्हें छन्ने द्वारा अलग नहीं किया जा सकेगा। जिससे किसान चने की फसल को समर्थन मूल्य पर विक्रय नहीं कर पाएंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *