Uncategorized खेतिहर राज्य

गौबर से लकड़ी बनाने वाली मशीन का किया शुभारंभ, गोबर से जैविक खाद तैयार कर किसानों की आय बढ़ेगी – पशुपालन मंत्री श्री पटेल

खण्डवा | प्रदेश के पशुपालन मंत्री श्री प्रेम सिंह पटेल ने रविवार को खण्डवा की श्री गणेश गौशाला में गोबर से लकड़ी अर्थात गौकाष्ठ बनाने वाली मशीन का शुभारंभ किया। इस दौरान पशुपालन मंत्री श्री पटेल ने गोबर से लकड़ी बनाने वाली मशीन को चलाकर भी देखा। इस दौरान उन्होंने गौशाला का निरीक्षण भी किया। कार्यक्रम में उन्होंने ग्राम सुजालपुर कला में निर्मित होने वाली लगभग 2.50 करोड़ रूपये लागत की गौशाला का लोकार्पण भी किया। इस दौरान खण्डवा विधायक श्री देवेन्द्र वर्मा, मांधाता विधायक श्री नारायण पटेल, भाजपा जिला अध्यक्ष श्री सेवादास पटेल, गौशाला समिति के अध्यक्ष श्री ओम प्रकाश मित्तल, समिति के सचिव श्री रामचन्द्र मौर्य, सहसचिव श्री अखिलेश गुप्ता सहित विभिन्न जनप्रतिनिधि मौजूद थे। कार्यक्रम में पशुपालन मंत्री श्री पटेल को संस्था द्वारा स्मृति चिन्ह भेंट किया गया। कार्यक्रम के अंत में दिव्यांग डांस एकेडमी के श्री राधेश्याम पंवार व रवि शुक्ला द्वारा डांस प्रस्तुत किया गया।
कार्यक्रम में पशुपालन मंत्री श्री पटेल ने कहा कि गौमाता के गोबर से जैविक खाद बनाई जा रही है। इस खाद का उपयोग किसान भाई अपने खेत में कर सकेंगे, जिससे उनके फसल उत्पादन में वृद्धि होगी, साथ ही उनकी आय भी बढ़ेगी। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार गौमाता के लिए विभिन्न गौशालाओं का निर्माण कराया जा रहा है। उन्होंने कहा कि भोपाल में गोबर गेस से बसें भी संचालित हो रही है। गोबर से लकड़ी बनाने का जो कार्य है वो सराहनीय है , इस प्रकार की मशीन से जंगल भी सुरक्षित रहेगा। उन्होंने कहा कि इन लकड़ियों का उपयोग शमशान घाट मे भी किया जाएगा। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान और प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी द्वारा गौमाताओं के कल्याण के लिए अच्छी कार्य योजनाएं बनाई जा रही है।
विधायक खण्डवा श्री देवेन्द्र वर्मा ने इस अवसर पर कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा प्रत्येक ब्लॉक में गोशालाओं का निर्माण कराया जा रहा है। उन्होंने कहा कि इसी क्रम में नागचून व कालमुखी में गौशालाओं का निर्माण कराया जा चुका है, जो लगभग 10 हेक्टेयर में बनाई गई है। इसमें लगभग 100-100 गायों के रहने की व्यवस्था की गई है। उन्होंने कहा कि गांव में जो गरीब किसान गौमाता को रखने में असमर्थ है उनके लिए इस तरह की गौशालाएं सहारा बनेगी। उन्होंने कहा कि प्रदेश में गौअभ्यारण बनाने का निर्णय मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने लिया है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा आचार्य विद्या सागर योजना संचालित की है। इस योजना में यदि किसी को दुध डेयरी का कार्य करना हो तो उसे 10 लाख रूपये का ऋण दिया जाता है, जिसमें 1 लाख रूपये अनुदान भी दिया जाता है।
विधायक मांधाता श्री पटेल ने इस अवसर संबोधित करते हुए कहा कि गौमाता हमारी माता है, इसकी सेवा करने से हमें पुण्य मिलता है। उन्होंने कहा कि गौमाता के दूध में शक्ति रहती है, जिससे हमें विटामिन मिलता है। उन्होंने कहा कि आज अत्याधुनिक तरीके से गोबर से लकड़ी बनाने का यह कार्य अत्यंत ही सराहनीय है, इस तरह के आधुनिक कार्य होने चाहिए।
समिति के सचिव श्री रामचन्द्र मौर्य ने इस अवसर पर बताया कि सुजालपुर कला में निर्मित होने वाली लगभग 2.50 करोड़ रूपये लागत की गौशाला का निर्माण कराया जायेगा। इसमें गौशाला में एक ऑडिटोरियम भी बनाया जायेगा, साथ ही एक रिसोर्स सेंटर भी निर्मित होगा। इसके अलावा इस गौशाला में लगभग 2 हजार गायों के रहने की व्यवस्था की जायेगी। इसके साथ ही कर्मचारियों के रहने के लिए रूम की व्यवस्था भी की जायेगी। इसमें एक वृद्धा आश्रम भी बनाया जायेगा, जिसमें वृद्धजनों के रहने की व्यवस्था रहेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *