Uncategorized रतलाम राज्य

विद्यालयों में शिक्षा के साथ व्यक्तित्व का निर्माण भी होता है : केंद्रीय मंत्री श्री गहलोत

रतलाम । सरस्वती शिशु मंदिर समाज के द्वारा संचालित होकर समाज के लिए कार्य करते है। यहां शिक्षा के साथ व्यक्तित्व का निर्माण किया जाता है। ये हम सबके लिए गौरव की बात है। यह बात पिपल्या पीथा तथा पिपल्या सिसोदिया में सरस्वती शिशु मंदिर के नवीन भवन के लोकार्पण पर केंद्रीय सामाजिक न्याय मंत्री डॉ. थावरचन्द गहलोत ने कही।
सरस्वती वंदना के बाद अतिथि सांसद श्री अनिल फिऱोजिया, पूर्व विधायक श्री जीतेन्द्र गहलोत, श्री राजेन्द्रसिंह लुनेरा, श्री मदनसिंह राठौर, श्री अखिलेश मिश्रा, श्री भगवानसिह ठाकुर मंचासीन थे। कार्यक्रम के प्रारम्भ में विद्यालय की बालिकाओं ने सरस्वती वंदना प्रस्तुत की। पूर्व छात्रो ने अतिथियों का सम्मान किया। श्री मिश्रा ने कहा कि हमारे आचार्य न्यूनतम मानदेय पर काम करते हुए शिशुओं को संस्कारित शिक्षा दे रहे है। छात्रो को आईएएस, आईपीएस बनने के योग्य करने के साथ-साथ व्यक्ति का निर्माण करना उद्देश्य है। महामंडलेश्वर श्री मधुसूदनन्दजी महाराज ने कहा कि हमारी संस्कृति व संस्कार समृद्ध है।
आलोट में बार चेम्बर के लिए केंद्रीय मंत्री थावरचंद गहलोत 10 लाख रुपए सांसद निधि से दिए थे, इसके लिए मंत्री श्री गहलोत का बार एसोसिएशन की ओर से अभिनंदन करते हुए आभार व्यक्त किया गया। इस दौरान केंद्रीय मंत्री ने निर्माणाधीन बार चेंबर का निरीक्षण भी किया। इस दौरान बार एसोसिएशन ने श्री थावरचंद गहलोत एवं श्री जितेंद्र गहलोत का साफा एवं शाल, श्रीफल से सम्मान किया। इस दौरान बार एसोसिएशन अध्यक्ष श्री प्रहलादसिंह परिहार, श्री अशोक भंडारी, श्री राजेश,श्री बबलू सोलंकी, श्री शिवनारायण सोलंकी सहित बार एसोसिएशन के सदस्य मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *