Uncategorized खेतिहर देश मंडी भाव

मध्यप्रदेश में नई लहसुन में आई मंदी के बाद तेजी-मंदी का माहौल

रतलाम 16 फरवरी 2021 (मोतीलाल बाफना)। आज बसंत पंचमी का त्यौहार होने के कारण मध्यप्रदेश की कुछ मंडियाँ बंद रही, तो कुछ चालू थी, चालू मंडियों में नई लहसून की आवक आज कमजोर आने की चर्चा रही । वहीं कल 15 फरवरी सोमवार को प्रदेश की कुछ लहसुन मंडियों में आवकें जोरदार होने के कारण प्रात: की निलामी में लहसुन के बाजार ढिले रहने की चर्चा थी । प्रदेश में इंदौर, बदनावर आदि क्षैत्रकी कुछ मंडियों में माल जाली के कट्टों में बिकता है जिसमें माल फर्क आने की भी संभावना रहती है । इंदौर मंडी में विगत दो दिनों से लहसुन की बाजार चाल क्वालिटी अनुसार मालों जिसमें गिली भुंगी और दातरा तरह की छोटी की लहसुन उसके बाजार बहुत निम्न स्तर पर आ गए है ऐसी है चर्चा है । जबकि उस माल की आवक काफी कम रहने की संभावना रहती है। वह माल निचे में 1000 से 1500 तक और मीडियम, एवरेज माल 2000 से 4000 बडिय़ा सुपर माल 4300 से 6000 तक क्वालिटी अनुसार गिले सुखे माल अनुसार बिकने की चर्चा है । वैसे इस मौसम में लहसुन की आवक फरवरी अंत एवं मार्च माह के प्रारम्भ दिनों में अच्छी होने की संभावना जताई जा रही है । क्योंकि अब लहसुन की बुआई जो आखिरी समय में हुई है उसका माल आना प्रारम्भ हो जाएगा। वैसे कल दोपहर बाद कुछ मंडियों में लहसुन के क्वालिटी अनुसार मालों में 200 से 400 रू. प्रति क्विंटल का सुधार भी देखने को मिला है । आज 16 फरवरी को लहसुन के बाजार कहीं-कहीं पर 200 से 300 रू. का सुधार दिखा तो कहीं-कहीं पर समान भाव रहने की चर्चा है । वैसे विगत 8-10 दिनों में लहसुन आई मंदी से राष्ट्रीय स्तर पर लहसुन के व्यापारियों में घबराहट देखी गई। कुछ लोग बाजार भाव स्थिर करने के प्रयास भी चर्चा रही। लेकिन अभी उत्पादक कृषक गीला माल में उत्पादन बैठक और वजन अच्छा बैठता है इसके कारण अभी माल बेचने में ही लगा है । क्योंकि सुखाने पर उसका माल का वजन कमजोर होगा और अच्छी किमत नहीं मिलती है तो उसे नुकसान उठाने की आशंका रहती है । देश की प्रमुख कुछ मंडियो व उत्पादन क्षैत्रों की मंडियों में लहसुन व्यापार में एक पक्ष तेजी वाला दिखता है तो वहीं दूसरा पक्ष मंदी वाला दिखाई देता है । वैसे मध्यप्रदेश में नई ऊंटी लहसुन 4000 से 8000 रू. प्रति क्विंटल तक जनरल भाव क्वालिटी अनुसार रहने की चर्चा है । वहीं देश के बिहार, पं. बंगाल, उत्तर प्रदेश, दिल्ली, पंजाब, हरियाणा, महाराष्ट्र, गुजरात, छत्तीसगढ़, उडि़सा, कर्नाटक,तमिलनाडु आदि राज्यों में नया लहसुन की बिक्री प्रारम्भ हो गई है जिसमें से कुछ राज्यों में एवरेज व हल्का माल तो कुछ राज्यों में बेस्ट सुपर माल एवं बड़ी कली वाला माल की डिमांड अच्छी चल रही है लेकिन मध्यप्रदेश में नई लहसुन से आई मंदी का असर वहां पर भी देखने को मिल रहा है । माह अंत या मार्च माह में राजस्थान का नया लहसुन भी प्रारम्भ होने की संभावना है। जो कोटा, छिपाबड़ौद क्षैत्र का पहले चलेगा, वैसे अभी
मध्यप्रदेश से लगते निम्बाहेड़ा, प्रतापदगढ़ आदि कुछ मंडियों में नया लहसुन थोड़ा-थोड़ा आना प्रारम्भ हो गया है। देश की बिक्री मंडियों में लहसुन क्वालिटी अनुसार ट्रक, भाड़े आदि खर्चे अनुसार देशी माल 3000 से 8000 तक जनरल भाव रहने की चर्चा । वहीं ऊटी माल 5000 से 9000 तक जनरल भाव और ऊपर में 10000 के आसपास बिकने की चर्चा है । तमिलनाडु के कुछ व्यापारी ऊंटी लहसुन नया दलौदा, मंदसौर आदि क्षैत्र में खरीदी कर व्यापार कर रहे है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *