Uncategorized रतलाम राज्य

नशामुक्ति हेतु शिविर एवं ध्यान कार्यक्रम आयोजित

रतलाम । जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, पुलिस प्रशासन एवं जेल प्रशासन के सहयोग से पुलिस अधीक्षक श्री गौरव तिवारी की अध्यक्षता एवं अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश श्री साबिर अहमद खान के विशेष अतिथ्यि में नशामुक्ति हेतु शिविर एवं ध्यान कार्यक्रम का आयोजन सर्किल जेल में किया गया। कार्यक्रम में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री सुनील पाटीदार, जेलर सर्किल जेल श्री विद्याभूषण प्रसाद, जिला विधिक सहायता अधिकारी सुश्री पूनम तिवारी उपस्थित रहे।
इंदौर के डी. एडिक्शन काउंसलर श्री दोरजी एवं नारकोटिक्स एनोनिमस के सदस्य श्री निखिलजी, मुंबई (आनलाईन माध्यम से), श्री सिद्वार्थजी, श्री शीबूजी, श्री हिमांशुजी, श्री एल्वीनजी, श्री मुकुल, श्री शैलेन्द्र के साथ 03 नवम्बर को समय पूर्वान्ह 11.00 से 02.30 बजे तक सर्किल जेल में नशामुक्ति के संबंध में शिविर एवं ध्यान कार्यक्रम आयोजित किया गया जिसमें नालसा (नशा पीड़ितों को विधिक सेवाएं एवं नशा उन्मूलन के लिए विधिक सेवाएं) योजना, 2015 योजनातंर्गत जेल में निरूद्व नशा पीड़ितों की सहायता हेतु इंदौर के डी. एडिक्शन काउंसलर द्वारा ‘‘सोह्म’’ ध्यान पद्वति का अभ्यास कराया गया। जेल में निरूद्व बंदियों के मानसिक स्वास्थ्य एवं उनमें सकारात्मक बदलाव लाने के लिये ‘‘सोह्म (SOHAM)’’ ध्यान पद्वति का शुभारंभ किया जा रहा है।
पुलिस अधीक्षक श्री गौरव तिवारी द्वारा अपने अध्यक्षीय उद्बोधन में निरूद्व बंदियों को बताया गया कि वे नशा छोड़कर अपने भविष्य के बारे में सौचें। वे अपने परिवार परिवार एवं अपने बच्चों के भविष्य के लिए नशे और अपराध से दूर रहें। नशा छोड़ने के लिए उन्हें दृढ़ निश्चियी बनना पड़ेगा। शराब छोड़ने के लिए नकारात्मकता छोड़नी चाहिए और खुद को अच्छे कामों में व्यस्त रखना होगा। नशामुक्ति हेतु बंदियों की सहायता करने हेतु पुलिस प्रशासन सदैव तत्पर हैं और उनके नए नशामुक्त एवं अपराधमुक्त जीवन के लिये शुभकामना प्रेषित करता हैं।
अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश/सचिव श्री साबिर अहमद खान ने बताया कि इस नशामुक्ति अभियान हेतु जिला विधिक सेवा प्राधिकरण विशेष रूप से तत्पर हैं। नशामुक्ति हेतु नारकोटिक्स अनानिमस जैसी फेलोशिप की सहायता से आप 12 स्टेप का एक कार्यक्रम का उपयोग करते हैं। यह कार्यक्रम निःशुल्क है एवं इसमें किसी व्यक्ति की पहचान उजागर नहीं की जाती है। नारकोटिक्स एनोनिमस स्वसहायता समूह के द्वारा Hospital & Institution (H&I) पर एक प्रस्तुति दी गयी जिसमें सुधरते हुए नशेबाजों द्वारा अपने जीवन की घटनाओं को बंदियों के साथ साझा करके उन्हें प्रेरणा एवं मार्गदर्शन प्रदान किया गया कि बंदी भी उनकी तरह नशामुक्त होकर सामान्य जीवन बिता सकते हैं। पुलिस, जेल प्रशासन एवं जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के इस तरह के प्रयासों से नशामुक्ति कार्यक्रम को एक नयी दिशा मिलेगी। जिससे अधिक से अधिक व्यक्ति समाज की मुख्यधारा में शामिल हो सकेंगे।
जिला विधिक सेवा प्राधिकरण एवं सर्किल जेल एवं नारकोटिक्स एनोनिमस ग्रुप के परस्पर सहयोग से यह कार्यक्रम 03 नवम्बर से शुरू होकर अनवरत कम से कम दो माह तक जारी रहेगा। यह ध्यान पद्वति अत्यन्त सरल है। जेल प्रशासन द्वारा ध्यान पद्वति प्रतिदिन स्वयं आयोजित की जा सकेगी।
उक्त कार्यक्रम में श्री विजय शर्मा, पैरालीगल वालेंटियर्स एवं जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, रतलाम का स्टाफ उपस्थित रहा। नशामुक्ति हेतु सहायता प्राप्त करने के लिए नेशनल ड्रग्स हेल्प लाईन नंबर 1-844-289-0879, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण नं. 07412-231451 टोल फ्री-15100 सहायता समूह नंबर 8358392222, 7999660970, 9407389689, 9669663303, 7773833330 और अधिक जानकारी के लिए जिला विधिक सेवा प्राधिकरण रतलाम कार्यालय से संपर्क कर सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *