Uncategorized खेतिहर देश

गून्टूर में लाल मिर्च की आवक कोल्ड स्टोरेज का माल 1.25 लाख बोरी के लगभग, भाव 5500 से 19300 तक, कर्नाटक के बेडग़ी में 5500 से 31000 तक

रतलाम 3 नवंबर (मोतीलाल बाफना) । आंध्र प्रदेश एवं तेलगांना की लाल मिर्च मार्केटो में लाल मिर्च की आवकें कोल्ड स्टोर का माल आंध्रप्रधेश एवं तेलगांना मंडियों में गून्टूर, खम्मम, वरंगल, मेहबूबाबाद, येय्मीन्नूर, प्रकाशम, ताड़ेपल्लीगुड़म, नांदियाल, करनूल, हिन्दूपुर आदि प्रमुख मंडियो में तेजा, तेजा सुपर, डीडी, 355 बी वाईडी, 5531, बीवायडी, 273, नं.5, 4884, एक्स 10, 2043, 2573, स्वर्णा बीवायडी, आरमोर, रोमियो, आदि फटकी की अन्य वैरायटी 5500 से 19300 तक बिकने की चर्चा है। आंध्र एवं तेलगांना में बारिश की वजह से नई लाल मिर्चो की फसलें लगभग-लगभग एक माह की देरी से आने की संभावना के मद्देनजर देश भर के कोल्ड स्टोरेज में रखी हुई लाल मिर्च का स्टाक कम होता जा रहा है और सुपर बेस्ट माल विदेशी डिमांड के रहते अच्छे भावों में बिकने के कारण आंध्र प्रदेश एवं तेलगांना में क्वालिटी अनुसार माल ऊपर में 19300 से 20000 के आसपास व्यापार होने की चर्चा है । क्योंकि चीन, थाईलैंड, बांग्लादेश, म्यामांर, सिंगापुर, इंडोनेशिया, ईरान, इराक, सउदी, युएई आदि अरब एवं यूरोप के कई देशों में सुपर लाल मिर्च की तेजा और अन्य क्वालिटी अच्छी डिमांड रहने के कारण लाल मिर्च के भाव ऐतिहासिक स्तर पर पहुंच गए एवं वहीं कर्नाटक की बेडग़ी क्वालिटी लाल मिर्च जो कि मसाला पिसाई वालों, एक्सपोर्टरों व देश के मसाला वालों की डिमांड रहने के कारण क्वालिटी अनुसार मिर्च फटकी माल सहित 5500 से 31000 रू. प्रति क्विटंल तक बिकने की चर्चा है । वहीं मध्यप्रदेश में खंडवा जिले के कई गांवो में लाल मिर्च की पैदावार होती है और धार जिले के कुक्षी, धामनोद, मनावर, राजपुरा, कसरावद आदि मंडियों में लाल मिर्च फटकी एवं लाल मिर्च सुपर क्वालिटी अनुसार, डंडीदार एवं डंडीकट 7000 से 18000 रू. प्रति क्विंटल तक व्यापार होकर बिकने की चर्चा है । मध्यप्रदेश की मंडियों में अधिकतर माल बारिश का लगा होने के कारण डेमेज होने के कारण आ रहा है । कुछ दिनों बाद क्वालिटी सुपर माल भी चालू हो सकने की चर्चा है । कर्नाटक के बेडग़ी में भी नया माल थोड़ा-थोडा आ रहा है जो क्वालिटी अनुसार फटकी सहित 5000 से 29000 हजार रू. प्रति क्विंटल तक बिकने की चर्चा है । स्थानीय लोकल अन्नेगिरी तरफ का माल देश के मसालावालों की जो स्टाक करके बेचते है उनकी खरीदी में पकड़ होने की चर्चा है। महाराष्ट्र की मंडियों में दीपावली के बाद नई लाल मिर्च नन्दूर, डूंडईचा आदि एवं नागपुर के पिवाहुर, चिकली आदि कई क्षैत्रों की मिर्ची प्रारम्भ होने की चर्चा है । वहीं गुजरात के गोंडल का माल भी थोड़ा देरी से आने की संभावना है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *