Uncategorized खेतिहर राज्य

नीमच के दो युवाओं की अभिनव पहल दूधवालों, डेयरी एवं ग्राहकों के लिए नीमच के दो युवाओं ने प्रारम्‍भ किया स्टार्टअप, कलेक्‍टर श्री राजे ने किया स्‍टार्टअप का शुभारम्‍भ

नीमच | बिट्स आईआईटी के छात्रों ने नीमच-मंदसौर के ग्राहको, दूधवालों, डेयरी के लिए नीमच के दो युवाओं ने स्टार्टअप प्रारम्‍भ किया है। उन्होने तीन एप बनाए है, अब ग्राहक खुद देख सकेंगे मिलने वाले दूध की शुद्धता। लोगो की सुविधा के लिए 9425727614 पर व्हाट्सएप्प करके ग्राहक बंदी लगवा सकते है,दूधवाले व डेयरी इस टीम से जुड़ कर, फ्री में एप उपयोग कर सकते है।
कलेक्‍टर श्री जितेन्‍द्रसिंह राजे ने शुक्रवार को कलेक्‍टोरेट सभाकक्ष नीमच लेपटाप पर क्‍लीक कर र्स्‍टाटएप एवं एप का शुभारम्‍भ किया। इस मौके पर र्स्‍टाटअप के सीईओ श्री देवांश शर्मा एवं श्री यश जोशी ने र्स्‍टाटअप एंव एप के बारे में विस्‍तार से अवगत कराया।
डेयरी सिस्टम” स्टार्टअप के ग्राहकों को मिलेगा कम कीमत पर शुद्ध दूध-अब फ़ोन पर रहेगा पूरा हिसाब, लैक्टोमीटर से टेस्टेड दूध की गुणवत्ता दिखेगी, दूधवालों की रेटिंग, उनके दूध के प्रकार, ग्राहको को मिलेगा गुणवत्तापूर्ण दूध उत्पाद पॉच सौ से ज्यादा ग्राहक इस सुविधा का नीमच-मंदसौर में उपयोग करने वाले है। 15 नवंबर 2020 से तीन हजार लोगो तक सुविधा पहुंचाने की तैयारी एप पर हिसाब रखने से ग्राहक और दूधवालों का समय बचेगा। स्टार्टअप की अपनी दूधवालों और डेयरी की पूरी टीम है। दूध कितना गाढ़ा है और उसमे कितना पानी मिला हुआ, डिजिटल लैक्टोमीटर से टेस्ट करके ग्राहकों को नियमित एप पर दिखा देता है, जिससे पारदर्शिता बढ़ती है। टीम कोशिश करती है,कि एक ही कॉलोनी में ज्यादा वितरण हो जिससे ग्राहक को कीमत बाजार मूल्य से एक से पॉच रूपये कम देनी पड़ती है।
कोरोना वारियर्स व गरीब वर्ग को निशुल्क मूल्य पर दूध प्रदान करते है-स्टार्टअप टीम परिवार को चयनित करके उनको सात दिनों के लिए निशुल्क दूध प्रदान करती है। इस मुहीम में हॉस्पिटल, पुलिस, काम करने वाली काम काजी महिलाओ और गरीब वर्ग के लोगो लक्षित रखा गया है।
अच्छे लेख, फ्री उपहार और मास्क देना टीम का नियम है-दूध के साथ अपनी रूचि अनुसार ग्राहकों को निशुल्क फल, बिस्कुट, चॉक्लेट कभी छात्रों के लिए अच्छे लेख तो कभी सुविचार का पर्चा देने का नियम टीम ने रखा है। एक अच्छा सुविचार व्यक्ति को पूरा दिन उत्साहित रखने की क्षमता रखता है। ग्राहक पैकेट वाले दूध जैसे सौरभ,अमूल आदि भी ले सकते है। टीम अभी इंटर्नशिप, पार्ट टाइम जॉब अवसर भी प्रदान कर रही है। एप और वेबसाइट पर काम करने के इच्छुक छात्र, या मार्केट व व्यापार संभालने वाले लोग अपना रिज्यूम कर सकते है।
कागज़ पर हिसाब करने से बचे-15 से 80 रूपये लीटर तक का टेस्टेड दूध, ग्राहक अपनी अनुसार दूध चुने। एप पर ग्राहक अपना पूरा हिसाब देख सकते है,दूधवाले के आने की सूचना पा सकते है, अन्य दूध सामग्री मंगवा सकते है। ग्राहक टेस्ट करने के लिए एक हफ्ते से लेकर एक महीने तक की बंदी 9425727614 पर अपना नाम, पता व्हाट्सप्प करके लगवा सकते है।
दूधवालों के लिए”डीएस दूधवाले”एप व डेयरी वालो को लिए “डीएस डेयरी शॉप”एप-कोई भी दूधवाला इस निशुल्क एप का उपयोग कर सकता है। इस एप को दूधवालों की टीम से बात करके उनकी सुविधा अनुसार बनाया गया है।अधिकांश दूधवाले ग्राहकों की कॉपी में हिसाब लिखते है, एप की मदद से दूधवाले पुरे महीने का हिसाब एक ही बार में ग्राहक को व्हाट्सप्प कर सकते है। डेयरी एप पर फैट से मूल्य अपने आप आ जाता है, दूधवालों को जोडा जा सकता है और किसी भी महीने का पूरा हिसाब एक बार में देखा या भेजा जा सकता है। नए दूधवाले, डेयरी या जिनको ग्राहक चाहिए वो व्हाट्सप्प करके जुड़ सकते है। दूध का दाम भी ज्यादा पा सकते है।
र्स्‍टाटअप के सीईओ श्री यशजोशी का कहना है,कि-हमारी टीम लगातार एप पर काम कर रही है, और लोगो की सुविधा अनुसार अपडेट कर रहे है। लोगो को सुविधा प्रदान करना पहला लक्ष्य है।
सीईओ श्री देवांश शर्मा का कहना है,कि इस र्स्‍टाटअप एवं एप से पूरी डेयरी प्रणाली को लाभ पहुंचेगा।गत सात महीने से हमारी टीम दूधवालों से ग्राहकों से निरंतर बात कर उनकी आवश्यकता अनुसार काम किया है।स्टार्टअप अधिकतर बड़े शहरों में चल रहे है,हम नीमच मंदसौर के है और चाहते है,कि यह पर स्टार्टअप कल्चर विकसित हो।
ग्राहक सुश्री नेहा नागदा का कहना है,कि दूध की शुद्धता अब हम खुद चुन पा रहे है।दूधवाला कब आने वाला है हमें पता चल जाता है। सारा हिसाब व्हाट्सप्प पे अपने आप दिख जाता है और दूध के साथ फ्री गिफ्ट्स वाली चीस काफी दिलचस्प है।
दूध विक्रेता श्री विष्णु का कहना है,कि अब हमें कागज पर लिखने की ज़रूरत नहीं पड़ेगी। हमे बस ग्राहक के घर पर जाकर फ़ोन पर एक बटन दबाते ही दूध कितना दिया इसकी एंट्री हो जाती है। ग्राहक को भी हिसाब देने में आसानी रहती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *