Uncategorized खेतिहर रतलाम

समय सीमा पत्रों की समीक्षा बैठक में कलेक्टर श्री डाड ने दिए निर्देश-कृषि विभाग किसानों से संपर्क कर बीमा संबंधी समस्याओं का निराकरण करें

रतलाम । कृषि विभाग किसानों से दूरभाष पर संपर्क करें, उनकी समस्याओं का निराकरण करें। यह निर्देश कलेक्टर श्री गोपालचंद्र डाड ने समय सीमा पत्रों की समीक्षा बैठक में उपसंचालक कृषि श्री जी.एस. मोहनिया को दिए। कलेक्टर द्वारा अन्य विभागों की समीक्षा की गई। बैठक में सीईओ जिला पंचायत श्री संदीप केरकेट्टा, अपर कलेक्टर श्रीमती जमुना भिड़े, एसडीएम श्री अभिषेक गहलोत, श्री एम.एल. आर्य, डिप्टी कलेक्टर सुश्री सिराली जैन, सुश्री मनीषा वास्कले, सुश्री कृतिका भीमावद, जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित थे।
कलेक्टर ने मुख्यमंत्री हेल्पलाइन में लंबित शिकायतों के निराकरण की समीक्षा की। कृषि विभाग की समीक्षा के दौरान 100 दिवस से ऊपर की 234 शिकायतें पाई गई, इस पर कलेक्टर ने सख्त नाराजगी व्यक्त करते हुए निर्देश दिए कि उपसंचालक सीएम हेल्पलाइन में शिकायतों के निराकरण के लिए प्रतिदिन समीक्षा करें। कलेक्टर ने इस बात पर नाराजगी व्यक्त की कि सीएम हेल्पलाइन में कृषि विभाग के मैदानी अधिकारियों द्वारा एल-1 पर शिकायतों को अटेंड नहीं किया जा रहा है। कलेक्टर द्वारा विभाग के अनुविभागीय अधिकारियों को शोकाज नोटिस जारी करने के निर्देश दिए तथा वेतनवृद्धि रोकने की कार्रवाई के लिए भी निर्देशित किया। उपसंचालक को निर्देश दिए कि बीमा संबंधी शिकायतों में किसानों के बैंक खातों को अपडेट कराया जाए। यह सुनिश्चित करें कि किसानों के खातों में बीमा राशि आ जाए, इसके पूर्व शिकायतों को फोर्स क्लोज नहीं किया जाए।
कलेक्टर द्वारा सीएम हेल्पलाइन के निराकरण की समीक्षा के दौरान पाया गया कि अक्टूबर माह के दौरान किए गए निराकरण के आधार पर 20 नवंबर की स्थिति में रतलाम नगर निगम प्रदेश में दूसरे स्थान पर तथा जिला पंचायत रतलाम चौथे स्थान पर है। इसकी सराहना करते हुए कलेक्टर द्वारा जिला पंचायत सीईओ श्री संदीप केरकेट्टा तथा निगम आयुक्त श्री सोमनाथ झारिया को बधाई दी गई। बैठक में मुख्यमंत्री की सर्वोच्च प्राथमिकता वाली योजनाओं की समीक्षा के दौरान कलेक्टर द्वारा एजेंडे के 15 बिंदुओं के आधार पर सभी विभाग कार्यालय प्रमुखों को निर्देशित किया गया कि वह प्रतिदिन अपने विभाग से संबंधित योजना कार्यक्रम की प्रगति की समीक्षा करते रहे, 15 बिंदुओं का एजेंडा अपनी टेबल पर ही रखें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *