Uncategorized राज्य

सभी अधिकारी विभागीय योजनाओं का मैदानी स्तर पर क्रियान्वयन की स्थिति देखे- कलेक्टर श्री जैन

शाजापुर | सभी अधिकारी विभागीय योजनाओं का मैदानी स्तर पर क्रियान्वयन की स्थिति देखे। उक्त निर्देश कलेक्टर श्री दिनेश जैन ने आज समयसीमा पत्रो की समीक्षा बैठक में सभी विभागो के अधिकारियों को दिए। इस अवसर पर जिला पंचायत सीईओ श्रीमती मिशा सिंह, अपर कलेक्टर श्रीमती मंजूषा विक्रांत राय, डिप्टी कलेक्टर सुश्री प्रियंका वर्मा एवं श्रीमती जूही गर्ग सहित विभिन्न विभागो के अधिकारी मौजूद थे।
बैठक में कलेक्टर श्री जैन ने कहा कि विभागीय अधिकारी कार्यालय में ही बैठकर कार्यो की समीक्षा नहीं करे, बल्कि मैदानी अमले पर निर्भर न रहते हुए मैदानी क्षेत्र में भ्रमण कर योजनाओं के क्रियान्वयन की स्थिति देखे। उन्होंने सभी अधिकारियों को विभागीय योजनाओं के लक्ष्य में प्रगति लाने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि सभी अधिकारी मैदानी भ्रमण के लिए दिन तय करें और क्षेत्र का भ्रम करें। भ्रमण के दौरान ग्रामीणों से चर्चा कर योजनाओं की स्थिति जाने। जिन हितग्राहियों को लाभ नही मिल पा रहा है उन्हें भी लाभांवित करने के लिए उनसे चर्चा करें। इसी तरह के निर्देश अपने अधिनस्थ खण्ड स्तरीय अधिकारियों को भी दें। साथ ही भ्रमण के उपरांत इसकी रिपोर्ट भी प्रस्तुत करें। सीएम हेल्पलाइन के तहत प्राप्त शिकायतों का संतुष्टि के साथ निराकरण करें। सर्वाधिक शिकायत वाले विभाग शिकायतों के निराकरण पर विशेष ध्यान दें। इस मौके पर कलेक्टर ने राज्य शासन के “मिलावट से मुक्ति अभियान” के तहत अब तक की गई कार्यवाही की जानकारी ली। साथ ही सभी अधिकारियों को अभियान के तहत अधिक से अधिक कार्यवाही करने के निर्देश दिये। आत्मनिर्भर भारत के लिए ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्र के पथ विक्रेताओं को अपना व्यवसाय शुरू करने के लिए क्रमश: प्रधानमंत्री स्ट्रीट वेंडर ऋण योजना एवं मुख्यमंत्री ग्रामीण स्ट्रीट वेंडर ऋण योजना से लाभांवित करने के कार्य में लक्ष्य अनुरूप प्रगति हासिल करने के निर्देश दिये। जिला आपूर्ति अधिकारी श्री एच.आर. सुमन को कलेक्टर ने निर्देश दिये कि जिले में सार्वजनिक वितरण प्रणाली के तहत किसी भी शासकीय उचित मूल्य की दुकान से गुणवत्ताविहीन खाद्यान्न का वितरण नहीं हो। जिन दुकानों पर गुणवत्ताविहीन खाद्यान्न पहुंच गया हो, उसे वहां से वापस मंगाए। इस मौके पर कृषि अधोसंरचना कोष के तहत जिले के लिए चयनित फसल प्याज के भण्डारण एवं उत्पादन के संबंध में कलेक्टर ने जिले से प्याज के निर्यात करने के लिए स्थानीय व्यापारियो से चर्चा करने एवं उनका पंजीयन कराने के निर्देश दिये। इस मौके पर कलेक्टर ने महिला बाल विकास विभाग द्वारा आंगनवाड़ियो के माध्यम से वितरित किये जा रहे रेडी-टू-इट खाद्यान्न के वितरण के संबंध में महिला एवं बाल विकास कार्यक्रम अधिकारी को निर्देश दिये कि वे इस योजना के संबंध में पालको से फीडबेक प्राप्त करें कि दिया जा रहा खाद्यान्न बच्चों को पसंद है या नहीं। इस अवसर पर लोक संपत्ति प्रबंधन, बिजली आपूर्ति के घंटे सहित अन्य योजनाओं की भी कलेक्टर ने समीक्षा की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *