इंडोनेशिया, थाईलैंड, सिंगापुर, चीन आदि देशों की लाल मिर्च में डिमांड के कारण एस-10, तेजा सुपर क्वालिटी लाल मिर्च में बाजार सुधरे, 13000 तक

 

 (मोतीलाल बाफना)

रतलाम(10 जुलाई 2019)। चालु सप्ताह में देश में आचार सीजन के कारण एवं बारिश का मौसम होने से मसाला उद्योगों की डिमांड ग्राहकी के कारण निकलने एवं एक्सपोर्ट में इंडोनेशिया, थाईलैंड, सिंगापुर, चीन आदि कई देशों की लाल मिर्च में एस-10 और तेजा सुपर आदि अन्य कुछ क्वालिटियों में डिमांड निकलने के कारण लाल मिर्च के भाव में सुधार का रुख तेलंगाना और आंध्रप्रदेश की प्रमुख लाल मिर्च मंडियों में रहा। फटकी सुपर क्वालिटी मिर्च में भी डिमांड ठीक है। फटकी मिर्च 3500 से 7000 रुपए तक व्यापार होने की चर्चा है। एस-10, तेजा आदि अन्य क्वालिटी की मिर्च क्वालिटी अनुसार 7500 से 13000 रुपए प्रति क्विंटल तक बिक्री होने के समाचार हैं। वहीं तेलंगाना के मेहबूबाबाद में 13675 रुपए प्रति क्विंटल तक बिक्री होने के समाचार हैं। अभी तक प्राप्त जानकारी अनुसार तेलंगाना और आंध्रप्रदेश के लाल मिर्च उत्पादन क्षेत्रों मंे बारिश सामान्य होने की चर्चा है वहीं मध्यप्रदेश के कुछ क्षेत्रों में जोरदार बारिश की भी संभावना है। अगर हो गई तो लाल मिर्च के बुवाई और उत्पादन में बढ़ोत्तरी हो जाएगी। क्योंकि उत्पादक कृषकों को लाल मिर्च के अच्छे भाव मिल रहे हैं। वैसे चर्चा के मुताबिक अभी जो स्टॉक में 1.2 करोड़ बैग होने की चर्चा है उसमें एक्सपोर्ट डिमांड जोरदार है और लोगों की ऐसी धारणा है कि सितंबर-अक्टूबर माह तक लाल मिर्च के भाव 140 से 160 रुपए प्रति किलो के आसपास हो जाएंगे। आंध्र एवं तेलंगाना के मिर्च मार्केटों में लाल मिर्च क्वालिटी अनुसार 7500 से 13000 रुपए प्रति क्विंटल तक आज रहने की चर्चा है। कहीं-कहीं पर कुछ मंडियों में कोल्ड का माल ऊंचे भाव में बिक्री होने की चर्चा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *