वायुसेना प्रमुख बीएस धनोआ ने कहा-पाकिस्तान बालाकोट हमले के नुकसान को देखना नहीं चाहता

नई दिल्ली । बालाकोट हवाई हमले से हुए नुकसान को पाकिस्तान ने मानने से इनकार कर दिया है। ये हवाई हमला भारतीय वायुसेना ने आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के बालाकोट में स्थित ठिकाने पर 26 फरवरी को किया था। ये बात भारतीय वायुसेना प्रमुख बीएस धनोआ ने शुक्रवार को कही है। उन्होंने कहा कि सबूत आंखों के सामने हैं, लेकिन देखना नहीं चाहते।
उन्होंने इस बात पर जोर देते हुए कहा कि भारतीय लड़ाकू विमानों ने अपने लक्ष्यों पर सटीक निशाना साधा था। धनोआ से जब ये सवाल पूछा गया कि पाकिस्तान ने भारतीय वायुसेना की कार्रवाई को लेकर कहा था कि इससे कोई नुकसान नहीं हुआ। तो इसपर धनोआ ने अमेरिकी गायक बॉब डायलन के 1963 में आए एल्बम का संदर्भ देते हुए कहा, ‘यह आपके सामने है (पाकिस्तान), लेकिन आप उसे देखना नहीं चाहते…. मैं केवल डायलन की याद दिला सकता हूं।’
जम्मू कश्मीर के पुलवामा में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) पर हुए आत्मघाती हमले के जवाब में भारतीय वायुसेना ने बालाकोट में आतंकी ठिकानों पर हवाई हमला किया था। 14 फरवरी को हुए पुलवामा हमले में 40 जवान शहीद हो गए थे।
भारतीय वायुसेना के मिराज ने बालाकोट में तीन लक्ष्यों पर पांच इजरायली मूल के स्पाइस 2000 बमों से निशाना साधा था। ये जानकारी पहचान ना बताने की शर्त पर वायुसेना के दो अफसरों ने दी। प्रत्येक बम में 80 किलो विस्फोटक था जो 900 किलो की स्टील के खोल में था। इससे जहां हमला किया जाता है वहां मौजूद लोग भी नहीं बचते।
एक अन्य अधिकारी ने कहा कि बम अपने निशाने पर जाकर लगे। जिससे इमारतों में 80-90 सेंटीमीटर तक के छेद हो गए। धनोआ ने कहा कि प्रभाव के बिंदू उन्हें दिखाई देते हैं जिन्हें पता है कि कहां देखना है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *