Uncategorized खेतिहर रतलाम

ऋण स्वीकृति में कोई दिक्कत तो नहीं हुई, मामाजी कोई दिक्कत नहीं हुई

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने स्ट्रीट वेंडर योजना के हितग्राही बिलपांक के देवेंद्र केलवा से चर्चा की
रतलाम जिले में 127 हितग्राहियों के खातों में राशि अंतरितकी गई

रतलाम। मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान द्वारा सोमवार को भोपाल में आयोजित राज्य स्तरीय कार्यक्रम द्वारा मुख्यमंत्री ग्रामीण स्ट्रीट वेंडर योजना के तहत प्रदेश के हितग्राहियों के खातों में बगैर ब्याज के 10-10 हजार रुपए ऋण राशि अंतरित की गई। इस दौरान रतलाम जिले में 127 हितग्राहियों के खातों में राशि अंतरित की गई। मुख्यमंत्री ने रतलाम जिले के हितग्राही ग्राम बिलपांक के हेयर सैलून संचालक श्री देवेंद्र केलवा तथा उनकी पत्नी श्रीमती विजयलक्ष्मी केलवा से भी चर्चा की। मुख्यमंत्री ने जब देवेंद्र से पूछा कि ऋण स्वीकृति में कोई दिक्कत तो नहीं हुई, देवेंद्र ने कहा नहीं मामाजी कोई दिक्कत नहीं हुई मुख्यमंत्री ने पूछा कि किसी ने पैसे तो नहीं मांगे, देवेंद्र ने कहा नहीं किसी ने भी नहीं मांगे, बल्कि बैंक वालों ने स्वयं मुझे सूचित किया कि आपका ऋण स्वीकृत हो गया है। मुख्यमंत्री ने प्रसन्नता व्यक्त की और कहा कि खूब आगे बढ़ो, तरक्की करो। देवेंद्र केलवा बिलपांक स्थित अपने हेयर सेलून से ही मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान से चर्चा कर रहे थे।
इस अवसर पर ग्राम बिलपांक में रतलाम ग्रामीण विधायक श्री दिलीप मकवाना, जिला पंचायत प्रधान श्री परमेश मईडा, पूर्व किसान आयोग अध्यक्ष श्री ईश्वरलाल पाटीदार, कलेक्टर श्री गोपालचंद्र डाड, सीईओ जिला पंचायत श्री संदीप केरकेट्टा, एसडीएम ग्रामीण श्री एम.एल. आर्य, तहसीलदार श्री रमेश मसारे, जिला समन्वयक एनआरएलएम श्री हिमांशु शुक्ला तथा ग्रामीणजन उपस्थित थे।
मुख्यमंत्री से चर्चा के दौरान देवेंद्र ने उन्हें बताया कि ग्रामीण स्ट्रीट वेंडर योजना से प्राप्त ऋण राशि से उसने हेयर सैलून के लिए एक नवीन चेयर खरीदी है। एक पुरानी चेयर अतिरिक्त हो जाने से एक और कारीगर दुकान में रख लिया है जिससे आमदनी में और बढ़ोतरी हो गई है। इसके साथ ही सैलून के लिए ड्रायर, ट्रीमर आदि सामग्री भी क्रय की गई है जिससे दुकान अब ज्यादा अच्छी चलने लग गई है। एक दिन में 400 से 500 रूपए की कमाई हो जाती है। मुख्यमंत्री ने कहा कि अपने सैलून को बहुत आगे ले जाना है। राज्य शासन बगैर ब्याज के 10 हजार रुपए ऋण उपलब्ध करा रहा है, इस राशि की वापसी के बाद 20 हजार और उसके बाद 50 हजार रूपए का ऋण उपलब्ध कराए जाएगा।
मुख्यमंत्री को देवेंद्र ने बताया कि उसके द्वारा कोरोना के दृष्टीगत हेयर सेलून में आने वाले प्रत्येक ग्राहक के लिए पृथक- पृथक डिस्पोजल नेपकीन का उपयोग किया जाता है। जों कटिंग अथवा शेविंग पश्चात कचरा पेटी में फेंक दिया जाता है मुख्यमंत्री प्रसन्नता व्यक्त करते हुए कहा कि कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए यह बहुत अच्छा है। देवेंद्र ने कहा कि इसके लिए वह ग्राहक से अतिरिक्त राशि चार्ज करता है। देवेंद्र की पत्नी श्रीमती विजयलक्ष्मी से भी मुख्यमंत्री ने चर्चा की। विजयलक्ष्मी ने बताया कि वह ग्रामीण आजीविका मिशन के तहत स्वयं सहायता समूह से 7 माह पूर्व जुड़ी थी। मिशन से मिली राशि से उसने ब्यूटी पार्लर का कार्य आरंभ किया है जिससे अच्छी आमदनी हो रही है। एक दिवस में 200 से 300 रूपए की कमाई हो जाती है, सीजन में और ज्यादा आमदनी होती है। मुख्यमंत्री ने परिवार के बारे में जानकारी लेते हुए शुभकामनाएं व्यक्त की, समृद्धि की कामना की। बच्चों को खूब पढ़ाने के लिए कहा। विजयलक्ष्मी ने मुख्यमंत्री से कहा कि मामाजी बिलपांक आएं, मुख्यमंत्री ने कहा कि वे बिलपांक जरूर आएंगे। इस अवसर पर मौजूद ग्रामीण विधायक श्री दिलीप मकवाना ने भी मुख्यमंत्री से चर्चा की और बिलपांक आने का आग्रह किया। मुख्यमंत्री को बताया कि बिलपांक में प्राचीन मौर्यकालीन विरुपाक्ष महादेव मंदिर है, मुख्यमंत्री ने कहा कि आगामी वर्ष में बिलपांक आएंगे। इस अवसर पर बिलपांक के अन्य हितग्राहियों को भी विधायक श्री मकवाना द्वारा योजना के लाभ वितरित किए गए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *