Uncategorized धार्मिक राज्य

भगवान महाकालेश्वर की भस्म आरती में दर्शनार्थियों का प्रवेश 15 मार्च से प्रारंभ होगा

पूरी क्षमता से दर्शनार्थियों को प्रवेश दिया जाएगा, गर्भगृह में भी फिलहाल प्रवेश वर्जित रहेगा, सामान्य दर्शन के लिए मन्दिर परिसर में तत्काल निशुल्क ऑनलाइन बुकिंग, बुकिंग के लिए 8 कियोस्क संचालित

उज्जैन । श्री महाकालेश्वर मंदिर प्रबंध समिति की बैठक आज प्रबंध समिति के अध्यक्ष एवं कलेक्टर श्री आशीष सिंह की अध्यक्षता में मेला कार्यालय में आयोजित की गई। बैठक में निर्णय लिया गया कि भस्मारती में दर्शनार्थियों की प्रवेश व्यवस्था आगामी 15 मार्च से प्रारंभ की जाए। वर्तमान में कोरोना संक्रमण के कारण प्रवेश बन्द है। यह व्यवस्था 15 मार्च से पूर्व की तरह पूर्ण क्षमता के साथ प्रारंभ होगी। साथ ही गर्भगृह में प्रवेश की अनुमति के संबंध में भी 15 मार्च के बाद विचार किया जाएगा। बैठक में प्रशासक श्री नरेंद्र सूर्यवंशी, महंत श्री विनीत गिरी महाराज, श्री आशीष पुजारी ,श्री विजय शंकर शर्मा, श्री दीपक मित्तल, श्री प्रदीप गुरु, नगर निगम आयुक्त श्री क्षितिज सिंघल, उज्जैन विकास प्राधिकरण के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री एसएस रावत, स्मार्ट सिटी के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री जितेंद्र चौहान मौजूद थे। बैठक में निम्नानुसार निर्णय लिए गए। :-

1 . सामान्य दर्शन के लिए ऑनलाइन बुकिंग व्यवस्था को निरंतर करने का निर्णय लिया गया तथा मंदिर परिसर में वर्तमान में संचालित तत्काल निशुल्क दर्शन बुकिंग व्यवस्था के 8 किओस्क का व्यापक प्रचार-प्रसार एवं इनका विस्तार करने का के निर्देश दिए गए।

  1. बैठक में निर्णय लिया गया कि जो भी दर्शनार्थी बिना बुकिंग के मंदिर दर्शन के लिए पहुंचते है उनको निराश ना होना पड़े इसके लिए उनकी हर संभव निशुल्क सहायता की जाए एवं उपलब्ध दर्शन स्लॉट में से कियोस्क के माध्यम से उनकी ऑनलाइन बुकिंग करवाई जाए।
    3 . बैठक में जानकारी दी गई कि जब से ऑनलाइन दर्शन की सुविधा प्रारंभ की गई है तब से अनाधिकृत व्यक्तियों का मंदिर में प्रवेश होना बंद हो गया है और इस कारण से दर्शनार्थियों के जेब कटने व सामान चोरी होने की घटना में अत्यधिक कमी आई है .
    4 . बैठक में भगवान महाकालेश्वर की शयन आरती में दर्शनार्थियों को प्रवेश देने का निर्णय लिया गया तथा इसका समय बढाकर रात्रि 10:15 बजे तक कर दिया गया है। जिससे 10:15 बजे तक मंदिर में दर्शन के लिए पहुंचने वाले दर्शनार्थी शयन आरती के दर्शन का लाभ ले सकेंगे।
    5 . बैठक में महाकाल मंदिर प्रबंध समिति द्वारा संचालित गौशाला का संचालन कार्य महानिर्वाणी अखाड़े के महंत श्री विनीत गिरी को सौंपने का निर्णय लिया गया.
    6 . भगवान श्री महाकालेश्वर मंदिर में विदेशी मुद्रा में प्राप्त होने वाले दान को जमा करने के लिए शासन द्वारा निर्धारित फॉरेन करेंसी अकाउंट खोलने का निर्णय लिया गया।
    7 . बैठक में महाकालेश्वर मंदिर में किए जा रहे विकास कार्यों के तहत सड़क चौड़ीकरण के लिए आवश्यक भूमि अधिग्रहण की आवश्यकता एवं प्रक्रिया को स्वीकृति प्रदान की गई। इसमें महाकाल मंदिर चौराहे का चौड़ीकरण,बड़ा गणपति मंदिर की गलियों का चौड़ीकरण, चार धाम पार्किंग से नरसिंह घाट तक की सड़क का चौड़ीकरण तथा उर्दू स्कूल की गली में माधव सेवा न्यास की सड़क का चौड़ीकरण शामिल है।
    8 . बैठक में भगवान महाकालेश्वर को चढ़ाए जाने वाली पगड़ी के सम्बन्ध में विचार विमर्श किया गया एवं निर्णय लिया गया कि उच्चतम न्यायालय के दिशा निर्देशों के तारतम्य में केवल परंपरागत पगड़ी ही भगवान को चढ़ाई जाए।
  2. हरिओम जल चढ़ाने के सम्बंध में श्रद्धालु महिलाओ के आग्रह पर विचार किया गया। इस सम्बन्ध में अंतिम निर्णय महाशिवरात्रि के बाद लिया जायेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *