Uncategorized राज्य

महाराष्ट्र राज्य से जिले में रेल मार्ग से आने वाले समस्त व्यक्तियों को चौथे दिन करवाना होगी आरटी-पीसीआर/आरएटी जांच

बुरहानपुर । बुरहानपुर जिले में बढ़ते कोरोना के मामलों को दृष्टिगत रखते हुए कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी श्री प्रवीण सिंह ने महाराष्ट्र राज्य से आने वाले संपूर्ण आमजनों को जिले की सीमा में प्रवेश करने पर आरटी-पीसीआर/आरएटी की नेगेटिव रिपोर्ट प्रस्तुत करना अनिवार्य किया है। जिले में महाराष्ट्र राज्य से रेल मार्गो से आने वाले समस्त व्यक्तियों को आगमन के चौथे दिवस पर आरटी-पीसीआर/आरएटी जांच करवाना अनिवार्य है। इस हेतु ”नर्सिंग प्रशिक्षण संस्थान जिला चिकित्सालय” के पीछे बुरहानपुर में उपस्थित होकर जांच करवाना होगा।
कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी श्री प्रवीण सिंह ने संपूर्ण कार्यवाही के लिए आयुक्त नगर निगम श्री भगवानदास भूमरकर को नोडल अधिकारी एवं डीपीएम श्री प्रवीण भार्गव को सहायक नोडल अधिकारी नियुक्त किया है। सहायक नोडल अधिकारी रेल से आने वाले प्रत्येक यात्री की सूची तैयार कर नोडल अधिकारी एवं कोविड कॉल सेंटर को उपलब्ध करायेंगे। कोविड कॉल सेंटर का दायित्व होगा कि सूची अनुसार प्रत्येक यात्री को आगमन के चौथे दिन आरटी-पीसीआर/आरएटी जांच हेतु नर्सिंग प्रशिक्षण संस्थान जिला चिकित्सालय बुरहानपुर में जाने के लिए सूचना देंगे तथा जानकारी संकलित करेंगे।
नोडल अधिकारी एचक्यूटी टीम आंगुतकों से आगमन के चौथे दिवस आरटी-पीसीआर/आरएटी जांच करवाऐ जाने हेतु संपर्क करेंगे। सहायक नोडल अधिकारी उक्त समस्त आरटी-पीसीआर/आरएटी सैंपल की जानकारी प्रतिदिन मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी बुरहानपुर को प्रस्तुत करना सुनिश्चित करेंगे। यह आदेश आपदा प्रबंधन अधिनियम की सुसंगत धाराओं के अंतर्गत जारी किया गया है। इसका उल्लघंन करना दण्डनीय अपराध की श्रेणी में आता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *