Uncategorized राज्य

राज्यसभा सांसद के वैक्सीनेशन कराने के आव्हान पर सोशल मीडिया पर भ्रामक टिप्पणी करने वालो पर हुई एफआईआर

बड़वानी | राज्यसभा सांसद डॉ सुमेरसिंह सोलंकी द्वारा अपनी सोशल मीडिया साइट पर सभी मित्रों और क्षेत्रवासियों से कोरोना टीका लगवाने और सुरक्षित रहने के आव्हान पर भ्रामक टिप्पणी करने वाले 2 लोग संदीप पाटीदार, दिलीप पंवार पर पुलिस ने एफआईआर दर्ज की है। सम्भवतः यह देश का पहला केस होगा जहां राज्यसभा सांसद की शिकायत पर पुलिस ने करोना टीकाकरण के भ्रामक टिप्पणी के लिए एफआईआर दर्ज की है। वहीं अन्य पोस्ट का भी पुलिस द्वारा परीक्षण किया जा रहा है, इस दौरान जो और पोस्ट भ्रामक पाई जायेगी, उन पोस्ट कर्ताओं के विरूद्ध भी कार्यवाही की जायेगी।
राज्यसभा सांसद डॉ. सोलंकी ने बताया कि उन्होंने जिले वासियों और अपने मित्रों को कोरोना वैक्सीन लगवाने के लिए सोशल मीडिया पर एक अपील पोस्ट की थी। जिस पर संदीप पाटीदार ने अपनी भ्रामक टिप्पणी कर लिखा की ‘‘ मौत का टीका है सर लग रहा है वही मर रहा है हमारे मध्य प्रदेश में बहुत सारे लोग बीमार हो गए ‘‘। इसी प्रकार दिलीप पंवार ने लिखा कि ‘‘ जिनको टीका लगवाया, वहीं मौत के घाट उतर गये, कोरोना वैक्सीन तो आ नहीं रही, फिर तो आप लोग टीके लगवाने को बोल रहे है, जिन-जिन लोगो ने टीके लगवाये वह शमशाम घाट में आराम से सोये हुये है। ‘‘
इस पर सांसद डॉ सोलंकी ने इस पोस्ट का स्क्रीनशॉट लेकर पुलिस अधीक्षक बड़वानी को तत्काल कार्रवाई करवाने हेतु भेजा था। इस पर पुलिस ने बड़वानी थाने में संबंधितो के विरुद्ध भारतीय दण्ड संहिता 1860 की धारा 188, आपदा प्रबंधन अधिनियम 2005 की धारा 51, 54 के तहत प्रकरण पंजीबद्ध कर दोषी के खिलाफ कार्यवाही प्रारंभ कर दी है। पुलिस अधीक्षक श्री निमिष अग्रवाल ने बताया कि इस प्रकार भ्रामक टिप्पणी और पोस्ट करने वालों को छोड़ा नहीं जाएगा। उन्होंने आम जनों से भी आव्हान किया कि यदि उनके संज्ञान में भी इस प्रकार कोई पोस्ट है तो उसका स्क्रीनशॉट लेकर अपने क्षेत्र के थाने में जमा कराएं। जिससे दोषियों के विरुद्ध कठोर कार्रवाई की जा सके।
राज्यसभा सांसद डॉ सुमेरसिंह सोलंकी ने इस कार्यवाही के पश्चात पुनः आमजनों, मित्रों से आव्हान किया है कि करोना वैक्सीन पूरी तरह से सुरक्षित और कारगर है। अतः वे अधिक से अधिक संख्या में टीकाकरण केंद्र पर पहुंचकर इसे लगवाए। जिससे वे और उनका परिवार, समाज-ग्राम-अपना जिला भी कोरोना मुक्त हो सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *