Uncategorized खेतिहर देश

किसान आंदोलन के नाम पर राजनीतिक रोटी सेक रही कांग्रेस को देश के करोड़ों मेहनती किसान कभी माफ नहीं करेंगे – केंद्रीय कृषि राज्यमंत्री कैलाश चौधरी

बायतु (बाड़मेर) । केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण राज्यमंत्री कैलाश चौधरी ने राज्य में हो रहे पंचायती राज चुनाव में भाजपा का परचम लहराने का दावा किया है। केंद्रीय मंत्री चौधरी ने मंगलवार को बायतु विधानसभा क्षेत्र के ग्राम पंचायत सणतरा, लापुंदड़ा, कुपंलिया, परेऊ, सिमरखिया फांटा, खोखसर, खोखसर पश्चिम, केसुम्बला भाटियान, सवाऊ मूलराज, सवाऊ पदमसिंह शहर और कानोड़ गांवों में चुनावी सभाओं को सम्बोधित कर भाजपा के पक्ष में मतदान की अपील की। लापुंदड़ा में आवड़ माता मंदिर और परेऊ में गुलाब भारती मठ में दर्शन-पूजन और महंत ओंकार भारती महाराज से आशीर्वाद के बाद जनसभाओं में कैलाश चौधरी ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी का जनाधार मजबूत नीतियों और नेतृत्व के आधार पर दिनोंदिन बढ़ रहा है। गहलोत सरकार के तमाम तरह के हथकंडे अपनाए जाने के बाद भी भाजपा अच्छा प्रदर्शन करेगी और बड़ी संख्या में जिला प्रमुख और प्रधान बनाएगी।
केंद्रीय मंत्री कैलाश चौधरी ने किसान आंदोलन को लेकर कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि किसान आंदोलन के नाम पर कांग्रेस राजनीतिक रोटियां सेंकने का काम कर रही है। किसानों के प्रदर्शन का स्वरूप ठीक वैसा ही है जैसा उसने भूमि अधिग्रहण बिल, कश्मीर से धारा 370 हटाने, एक बार में तीन तलाक, सर्जिकल स्ट्राइक, राफेल विमान खरीद, नागरिकता संशोधन बिल (सीएए), अयोध्या विवाद आदि के समय किया था। यानि सच्चाई को छिपा कर झूठ को फैलाने जैसा। कोरोना महामारी एवं पाकिस्तान और खासकर चीन से तनातनी के बीच भी कांग्रेस प्रदर्शन कर रही है। आम कांग्रेसी तो दूर राहुल गांधी तक चीन के प्रवक्ता की तरह व्यवहार कर रहे हैं। वहीं कांग्रेस यह भी नहीं चाहती है कि प्रधानमंत्री मोदी किसानों के हित में कोई ऐसा फैसला लें जिसका खामियाजा कांग्रेस को चुनाव के मैदान में भुगतना पड़े।
कृषि राज्यमंत्री कैलाश चौधरी ने केंद्र सरकार के कृषि बिल के विरोध में हो रहे किसान आंदोलन को राजनीति से प्रेरित बताते हुए कहा कि कांग्रेस फिर सड़क पर है, किसानों के नाम पर कांग्रेसी जगह जगह उग्र प्रदर्शन कर रहे हैं। हालांकि सच्चाई यह है कि कृषि कानून किसानों के हितों को ध्यान में रखते हुए बनाए गए हैं। ने कहा कि जब प्रधानमंत्री मोदी बार-बार कह रहे हैं कि किसानों के हित के साथ-साथ राज्य सरकारों को मंडी से मिलने वाले राजस्व में कोई बदलाव नहीं किया गया, तो बेकार का हौवा खड़ा करना देशहित में नहीं है। चुनाव आते हैं, चले जाते हैं, लेकिन देश सर्वोपरि होता है। यह किसी को नहीं भूलना चाहिए।
कृषि कानून किसानों के हित में : केंद्रीय मंत्री कैलाश चौधरी ने कहा कि केंद्र सरकार के किसानों की आमदनी दोगुना करने के संकल्प ने बिचौलियों की परेशानी चौगुनी कर दी है। ऐसे ही बिचौलियों के साम्राज्य को बचाने की कांग्रेस सियासत कर रही है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार द्वारा लाए गए कृषि सुधार कानून देश के करोड़ों किसानों की आंखों में खुशी, जिदगी में खुशहाली की गारंटी हैं। कृषि सुधार कानून दशकों से बिचौलियों के चंगुल में फंसे किसानों को आजादी दिलाकर किसानों के आर्थिक सशक्तिकरण की दिशा में एतिहासिक कदम हैं। कृषि प्रधान भारत, कृषक प्रधान हिंदुस्तान के रास्ते पर चल पड़ा है जहां किसानों के अन्न का भरपूर दाम, अन्नदाता का भरपूर सम्मान है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *